GDR FULL FORM IN HINDI ?

GDR FULL FORM IN HINDI ?


हेलो दोस्तों आज के इस पोस्ट में । मैं आप सभी को बताने वाला हूं कि GDR क्या है दोस्तों इसी के साथ- साथ हम यह भी जानेंगे कि GDR और ADR में क्या अंतर है। और GDR क्या होता है। दोस्तों आप में से बहुत से ऐसे लोग होंगे जिन्हें नहीं पता है कि GDR का फुल फॉर्म क्या होता है और GDR और ADR में क्या अंतर होता है।


दोस्तों GDR और ADR दोनों का प्रयोग हमारे देश के भारतीय कंपनी और विदेशी पूंजी बाजार से धन जुटाने के लिए किया जाता हैं दोस्तो इन दोनों के बीच में एक सबसे मुख्य अंतर बाजार में होता है जिसे जारी किया जाता है और साथ में बदले में उन्हें सूचीबद्ध कर दिया जाता है जबकि ADR  का US स्टॉक एक्सचेंजो पर ट्रेड किया जाता है और GDR का यूरोपियन स्टॉक एक्सचेंज  में ट्रेंड किया जाता है दोस्तों इन दोनों के बारे में हम विस्तार में जानेंगे ज्यादा जानकारी के लिए आप हमारे पोस्ट के लास्ट तक बने रहें।


GDR क्या है?


दोस्तों GDR का पूरा नाम (Global Depository Receipt ) होता हैं और यह एक प्रकार का प्रोग्राम या उपकरण होता है जिससे अन्य देशों में अन्य बाजारों में एक एकल उपकरण के साथ टाइप करने के लिए उपयोग में इसे लाया जाता है जो एक विदेशी कंपनी व में शेयरों के नीचे संख्या का प्रतिनिधित्व करने वाले एक अधिक देशों में यह रसीदें डिपॉजिट बैंक के द्वारा जारी की जाती है ।

gdr-full-form-in-hindi


दोस्तो जिसे यह GDR धारक का नाम देते हैं और साथ ही में बैंक को प्राप्त या सरेंडर कर के उन्हें शेयरों  में बदल देते हैं जिससे कि GDR के लिए वित्त मंत्रालय और FIPB फॉरेन इन्वेस्टमेंट प्रमोशन बोर्ड के पूर्व मंजूरी कंपनी द्वारा पहले लेनी होती है।


GDR Full Form In Hindi ?


G :-  Globle

D :-  Depository 

R :- Receipt 


ADR क्या है?

दोस्तों ADR  का पूरा नाम American depositary receipt होता  है जो एक  परक्राम्य प्रमाण पत्र होता है इसे US बैंक द्वारा जारी किया जाता है और इसके सहायता से US स्टॉक मार्केट में एक विदेशी कंपनी के साथ व्यापार की प्रतिभूतियां का प्रतिनिधित्व करने वाले US $ को दर्शाया जाता है।


दोस्तों यह रसीद अंतर्निहित शेयरों की संख्या के खिलाफ एक दावा का कार्य करता है जो अमेरिकी निवेश  को के बिक्री के लिए ADR को पेश किया जाता है ओर वह American depository receipt  है जिसके जरिए अमेरिकी निवेश गैस अमेरिकी कंपनियों में निवेश कर सकते हैं और स्थिति में लगभग भुगतान ADR धारकों को किया जाता है जो की अमेरिकी डॉलर में होते हैं।


ADR Full Form In Hindi


A :-  American

D :- Depository

R :-  Receipt


दोस्तों ADR का फुल फॉर्म होता है ( American depository receipt )  इसे हिंदी में प्रक्रिया में प्रमाण पत्र कहते हैं अमेरिकी डिपॉजिटरि रसीद कहा जाता है। यह एक तरह का परक्राम्य प्रमाण पत्र होता हैं।


GDR और ADR में क्या अंतर होता हैं?


दोस्तों GDR और ADR में क्या अंतर है अब हम इसके बारे में जाने वाले हैं तो दोस्तों मैं आपको बता दूं कि  इसमें कुछ ज्यादा अंतर नहीं होते हैं लेकिन फिर भी इसे दो तरह से से देखा जाता है। जैसे कि:-

1). GDR का पूरा नाम Global Depository Receipt  होता है और ADR का पूरा नाम American Depository Receipt होता है दोस्तों ADR में केवल अमेरिका में ही इसका मोल भाव किया जा सकता है लेकिन जबकि GDR पूरी दुनिया में मोलभाव कर सकता है।


2). दोस्तों ADR अमेरिका में जारी होता है लेकिन GDR यूरोप में जारी होता है यह एक  डिपॉजिट रसीद है जिसे एक अमेरिका डिपॉजिट बैंक द्वारा जारी किया जाता है जो गैर अमेरिकी कंपनी स्टॉक के कुछ शेयरों के खिलाफ होते हैं और यह स्टॉक एक्सचेंज में चले जाते हैं ।


3). जबकि GDRअंतरराष्ट्रीय डिपॉजिट बैंक द्वारा जारी किए जाने वाला एक समझौता " योग्य उपकरण"  होता है यह विदेशी कंपनी के स्ट्रोक का प्रतिनिधित्व करता है और उसे अंतरराष्ट्रीय बाजार में बिक्री के लिए भेजा करता है।


4). दोस्तों ADR के लिए ( प्रकटीकरण )  आवश्यकताओं की बात आती है तो प्रतिभूति विनिमय आयोग ऐसी थी के द्वारा निर्धारित किया जाता है लेकिन दोस्तो GDR  इसके बिल्कुल विपरीत होता है क्योंकि इसमें ( प्रकटीकरण )  के आवश्यकताएं बहुत कम होते हैं क्योंकि ADR को अमेरिकन स्टॉक एक्सचेंज जैसे ही या फिर NSDAQ में लिस्ट किया गया है।


5). दोस्तो जबकि GDR को London Stock Exchange  या Luxemberg Stock Exchange में लिस्ट किया गया है।


निष्कर्ष :-

दोस्तो आप सभी को अगर इसे समझने में कोई भी दिक्कत या परेसानी आती है तो आप मुझे कमेंट करके बता सकते है हम आपको समझाने में हेल्प करेंगे ।


Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.